जानें गोखरू के फायदे और नुकसान के बारे में – Gokhru (Tribulus terrestris) benefits and side effects in Hindi

जानिए गोखरू के फायदे और नुकसान के बारे में, गोखरू स्वास्थ्य के लिए एक उपयोगी हर्ब होता है इसका वैज्ञानिक नाम ट्रिबुलस टेरेस्ट्रिस है। गोखरू का इस्तेमाल प्राचीन काल से ही कई बीमारियों के ईलाज के ही किया जाता रहा है। गोखरू का सेवन रोगों के उपचार के अलावा बॉडी बिल्डिंग, यूरो-जेनिटल सिस्टम (मूत्रजननांगी प्रणाली) की बीमारियों को ठीक करने के लिए उपयोगी होता है। गोखरू के फूल पीले रंग के होते हैं यह मुख्य रुप से राजस्थान और हरियाणा के सूखे ईलाकों में पाया जाता है। नागफनी की तरह इसके फल पर कांटे लगे होते हैं यानि की गोखरु का फल कंटीला होता है।

Gokhru (गोखरू) सीने के दर्द को कम करने, एक्जिमा के ईलाज के लिए, प्रोस्टेट के आकार को सही करने, सेक्सुल डिसऑर्डर को ठीक करने के लिए, इंफर्टीलिट को दूर करने और कई अन्य तरह की बीमारियों को ठीक करने के लिए उपयोग में लाया जाता है। इस आर्टिकल में हम आपको गोखरू हर्ब और उससे फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं गोखरु के फायदे और नुकसान के बारे में। इसका सेवन वैद्य के परामर्श के अनुसार ही करना चाहिए।

गोखरू का लाभ बॉडी बनाने में – Gokhru benefits Enhancing athletic performance in Hindi

इसका सेवन चाहे अकेले करें या हर्ब्स और किसी सप्लीमेंट के साथ मिलाकर करें। यह शरीर को एक्टिव बनाता है और ऊर्जा बढ़ाने में मदद करता है। इसलिए अपना प्रर्दशन खेलों में अच्छा बनाने के लिए गोखरू का सेवन किया जाता है। एथलीट्स और खिलाड़ी प्रर्दशन में सुधार के लिए गोखरू का सेवन करते हैं।

सीने में दर्द को कम करने में गोखरू के फायदे – Gokshura benefits in reducing Chest pain in Hindi

सीने में दर्द को कम करने में गोखरू के फायदे - Gokshura benefits in reducing Chest pain in Hindi

गोखरू का एक्सट्रेट सीने के दर्द को कम करता है। हृदयशूल एक बीमारी है जिसके कारण सीने में दर्द पैदा हो जाता है गोखरू का सेवन हृदयशूल के उपचार के लिए करना लाभकारी होता है। लेकिन इसका सेवन वैद्य के परामर्श के अनुसार ही करना चाहिए।

गोखरू का फायदा एक्जिमा के उपचार में – Gokhru benefits in treating Eczema in Hindi

गोखरू का फायदा एक्जिमा के उपचार में - Gokhru benefits in treating Eczema in Hindi

एक्जिमा त्वचा से संबंधित एक बीमारी होती है जिसे ठीक करने के लिए भी गोखरू का सेवन किया जाता है। यह त्वचा के लाल पड़ने और स्किन ब्रेकआउट को ठीक करने में मदद करने में मदद करता है। इसका इस्तेमाल वैद्य के परामर्श के अनुसार करें।

 

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के उपचार में गोखरू के फायदे – Gokhru for Erectile dysfunction in Hindi

यौन स्वास्थ्य अच्छा ना होने से कई लोगों के जीवन तबाह हो जाते हैं। इसलिए गोखरू एक रामबाण औषधि है जो कि यौन स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। कई रिसर्च बताते हैं कि 3 महीने तक गोखरु का सेवन करने से इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या से काफी हद तक निजात मिलती है। गोखरू का सेवन कामवासना और संतुष्टी बढ़ाता है साथ ही यह इरेक्शन को भी बढ़ाता है।

गोखरू काढ़ा से इंफर्टीलिटी ठीक होती है- Gokshura benefits for Infertility in Hindi

गोखरू पुरुषों में सेक्स पावर बढ़ाता है। कई अध्ययन बताते हैं कि गोखरू का सेवन सिर्फ 60 दिन में स्पर्म कांउट को बढ़ा देता है। जिससे पुरुषों को इंफर्टीलिटी की समस्या से निजात मिलती है। 1-2 महीनों में गोखरु का सेवन करने के बाद पुरुषों की सेक्सुअल डिजायर और फर्टीलिटी दोनों बढ़ती है सीधे शब्दों में कहा जाता है कि गोखरू का सेवन करने से पुरुषों को बांझपन से छुटकारा मिलता है। इसका इस्तेमाल वैद्य के परामर्श के अनुसार करें।

महिलाओं की यौन समस्याएं ठीक करने में गोखरू पाउडर के फायदे – Gokshura for Sexual problems in women in Hindi

कई सारे शोध और रिसर्च बताते हैं कि सिर्फ पुरुषों ही नहीं बल्कि महिलाओं में भी सेक्सुअल प्रोब्लम ठीक करने में गोखरू का सेवन करना लाभकारी होता है। 4 सप्ताह तक गोखरू का सेवन करने से सेक्सुअल डिजायर (कामवासना), कामुकता, सेक्स पावर, लुब्रिकेशन और सेक्स करने की ताकत में इजाफा होता है। यौन समस्याओं से निजात दिलाने में गोखरू का सेवन फायदेमंद होता है।

यह सिर्फ पुरुषों के लिए ही नहीं बल्कि महिलाओं के लिए भी लाभकारी होता है। (और पढ़े – सेक्स की इच्छा कैसे बढ़ाए)

गोखरू का सेवन प्रोस्टेट का आकार कम करता है – Gokhru benefits for Enlarged prostate in Hindi

गोखरू के सेवन करी पत्ता के साथ 12 सप्ताह करने से पुरुषों के बढ़े हुए प्रोस्टेट का आकार ठीक करने में मदद मिलती है। यह पुरुषों में यूरेनरी ट्रैक की कार्यप्रणाली को सुधारता है और पेशाब संबंधी समस्याएं दूर करता है। इसलिए गोखरू का सेवन फायदेमंद होता है।

निम्न सावधानियां गोखरू के इस्तेमाल के दौरान बरतें –  Gokhru (gokshura) uses, Special Precautions & Warnings in Hindi

  • इसका सेवन वैद्य के परामर्श के अनुसार ही करना चाहिए।
  • गोखरू का सेवन 90 दिन से ज्यादा समय तक नहीं करना चाहिए।
  • इसका अधिक सेवन करने से पेट दर्द, ऐंठन जैसी समस्या पैदा हो सकती है।
  • गोखरू का ज्यादा सेवन करने से जी-मिचलाने, उल्टी, नींद आने में परेशानी होने जैसी समस्या भी पैदा हो जाती है।
  • गोखरू का सेवन ज्यादा करने से पीरियड्स में बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होने की परेशानी पैदा हो जाती है। (और पढ़े – पीरियड्स जल्दी लाने और रोकने के घरेलू उपाय)
  • लंबे समय तक गोखरू का सेवन करने से किडनी संबंधी परेशानी पैदा हो जाती है।

गोखरू का सेवन गर्भावस्था में ना करें – Gokhru side effects during Pregnancy and breast-feeding in Hindi

गर्भावस्था के दौरान गोखरू का सेवन करने से भ्रूण का पूरा विकास नहीं हो पाता साथ ही इससे स्तनों में पर्याप्त मात्रा में दूध नहीं आता जिससे स्तनपान संबंधित समस्या पैदा हो जाती है। इसलिए गोखरू का सेवन गर्भावस्था में ना करें।

Share:

Leave a Comment

Your email address will not be published.

TOP